Home / Dishes / मोतीचूर लड्डू बनाने की रेसिपी———45 min
4 November, 2018

मोतीचूर लड्डू बनाने की रेसिपी———45 min

Posted in : Dishes on by : saheen

Spread the love

कितने लोगो के लिए :4 कुल समय:45 मिनट

मोतीचूर लड्डू बनाने की रेसिपी

मोतीचूर के लड्डू बेहद स्‍वादिष्‍ट होते हैं। इन्‍हें बूंदी के लड्डू भी कहते हैं। इन्‍हें बच्‍चे भी पसंद करते हैं और बड़े भी। और हां, बूंदी के लड्डू  बनाने में भी आसान हैं। तो फिर सोच क्‍या रहे हैं, आप भी आप मोतीचूर के लड्डू बनाने की विधि ट्राई करें।  हमें विश्वास है कि मोतीचूर लड्डू रेसिपी आपको पसंद आएगी। आजकल तयौहार का समय है | तो मीठा तो सबसे ऊपर ही रहेगा | अब ऐसे में घर की बननी मिठाई मिलजाए तो चारचाँद लगा जाये | अब सभी अपनी सेहत को लेकर काफी धियान रखते है | तो इसी लिए कुछ लोग  बाज़ार की चीज़े खाने से बचते है | तो अगर ऐसे में आप उन्हें घर की बने व्यंजन खिलाये तो मजा ही आजाये |

मोतीचूर बनाने की सामग्री

  • बेसन_Gram flour – 01 कप,
  • शक्कर_Sugar – 1 1/2 कप,
  • खरबूजे के बीज_Melon seeds – 02 बड़े चम्मच (ड्राई रोस्ट किये हुए),
  • छोटी इलाइची_Cardamom – 05 नग (दाने निकले हुए),
  • तेल_Oil – 01 बड़ा चम्मच,
  • देशी घी_Pure Ghee – बूंदी तलने के लिये।

मोतीचूर के लड्डू बनाने की विधि

 मोतीचूर लड्डू के लिये सबसे पहले बूंदी बनाने की तैयारी करनी होगी। इसके लिए बेसन को छान लें। उसके बाद एक बड़े प्याले में सवा कप से थोड़ा कम पानी लें| और उसमें बेसन डाल कर घोल लें। बेसन को इस तरह से घोलें कि उसमें गुठलियां न रह जाएं।

बेसन घुलने के बाद उसे अच्छी तरह से फेंट लें।यह घोल इस तरह से होना चाहिए कि यदि उसे चम्मच में लेकर गिराया जाए, तो वह लगातार एक ही फ्लों में गिरे। उसकें बाद उसमें तेल डालें और एक बार फिर से फेंट लें। जब बेसन के घोल में तेल एकसार हो जाए, उसे 20 मिनट के लिए रख दें।

अबआप किसी छोटे भगोने में एक कप पानी लें |और उसमें शक्कर डाल कर घोल लें। शक्कर घुलने के बाद घोल वाले बर्तन को आग पर तब तक पकाएं, जब तक उसकी एक तार की चाशनी न बन जाए।

इसे चेक करने के लिए एक छोटे चम्मच में चाशनी को निकाल कर उसे ठंडा कर लें और दो उंगलियों के बीच रख कर चिपका कर देखें। अगर उंगलियों के बीच एक तार जैसा बनता है, तो समझ लें कि आपकी चाशनी तैयार है|

बूंदी बनाने की विधि 

अब एक कढ़ाई में घी डालकर गरम करें। जब तक घी गरम हो रहा है, पहले से बनाए हुए बेसन के घोल को एक बार और अच्छी तरह से फेंट लें। घी गरम होने पर एक बड़ी कलछी को कढ़ाई के ऊपर रखें |और एक चम्मच से उसपर बेसन का घोल गिराएं। बेसन का घोल कलछी के छेदों से निकल कर खौलते हुए घी में गिरेगा और बूंदी के रूप में ढ़लता जाएगा।

कढ़ाई में जितनी बूंदी आसानी से तल जाएं, उतनी गिराएं और उन्हें सुनहरी होने तक तल लें। इसी तरह जब सारी बूंदी तल जाएं, चाशनी में इलाइची के दाने और खरबूजे के बीज डाल दें। उसके बाद बूंदी को भी चाशनी में डाल दें।

कलछी से चाशनी और बूंदी को अच्छी तरह से मिक्स कर दें और कलछी की सहायता से बूंदी को दबा कर बीस मिनट के लिए छोड़ दें।बीस मिनट बाद बूंदी को चाशनी से निकाल लें।

उसके बाद हाथों में पानी लगाकर थोड़ी सी बूंदी हाथ में लें और दबा-दबा कर गोल लड्डू बना लें। बने हुए हुए लड्डुओं को किसी परात में रखते जाएं और उन्हें किसी बंद जगह में लगभग पांच घंटों के लिए खुला छोड़ दें। इतनी देर में लड्डुओं की चाशनी पूरी तरह से बूंदी में जज्ब हो जाएगी और खुश्क हो जाएंगे। लीजिए आपकी मोतीचूर के लड्डू बनाने की विधि कम्‍प्‍लीट हुई।

अब आपके बूंदी के लड्डू तैयार हैं। इन्हें बाउल में निकालें और सर्व करें। इस तरह से तैयार बूंदी के लड्डू सुनहरे पीले रंग के होंगे।  अगर आप कलरफुल लड्डू बनाना चाहें, तो बूंदी तलने के पहले बेसन के घोल में मनचाहा खाने वाला कलर मिला दें, इससे बनने वाली बूंदी मनचाहे कलर की होगी और आपके लड्डू भी उसी रंग के तैयार होंगे। लड्डू तैयार है |बस अब आप लड्डू का सर्व करे और ढेर साऱी तारीफे बटोरे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *